सोमवार, 23 मार्च 2009

मॉडर्न महाजन-3

लंबे अरसे बाद इस सीरीज में एक कड़ी और जोड़ रहा हूं। ताजा मामला एचएसबीसी के क्रेडिट कार्ड के साथ जुड़ा है। ये बातें आपसे इसलिए भी शेयर कर लेता हूं ताकि मेरीबीती से आप कुछ सतर्क हो जाएं।
एचएसबीसी कार्ड के साथ मेरा रिश्ता बड़ा अजीबो-गरीब रहा है। मैं क्रेडिट कार्ड के चक्कर में तब नया-नया ही फंस रहा था। शादी तय हो चुकी थी इसलिए हाथ तंग था और पैसों की जरूरत। ऐसे में एचएसबीसी क्रेडिट कार्ड वालों ने फोन किया तो मैं ना नहीं कर सका।
इस कार्ड की शुरुआती लिमिट पचास हजार के करीब थी, जो बैंक वालों ने मुझसे कोई सलाह मशविरा किए बगैर, बड़े ही मनमाने तरीके से घटाकर ११ हजार के आसपास कर दी। मैंने सोचा चलो पिंड छुटा नहीं कुछ हलका तो हुआ ही।
खैर बात आई गई हो गई और फिलहाल इस क्रेडिट कार्ड का लिमिट १५ हजार है, वो भी बैंक ने खुद ही अतिरिक्त कृपा दिखाते हुए एकतरफा फैसला लिया।
एकतरफा फैसला लेने का बैंक का ये सिलसिला यहीं नहीं रुका। हाल ही में मुझे कुछ शॉपिंग करनी थी मैंने ये कार्ड यूज करना चाहा। मैंने करीब ५४०० का पेंमेंट करना चाहा तो बैंक वालों ने डिनाय कर दिया। इसके बाद सेकेंड टाइम में ४३०० का पेमेंट करना चाहा तो पेमेंट हो गया।
इसके बाद मैंने जब भी कार्ड यूज करना चाहा, बैंक वालों ने डिनाय कर दिया। मुझे डिनायल का कोई कारण समझ में नहीं आया। और न ही पेमेंट के लिए मैसेज कर ग्राहक को बार-बार रिमाइंड कराने वाले बैंक अधिकारियों ने ये जरूरी समझा कि मेरे कार्ड पर लगी पाबंदी की सूचना मुझे देते।
बहरहाल सबसे हैरान करने वाला तथ्य तो ये है कि करीब ४०० रुपये के ओवरयूज के लिए बैंक ने ५०० रुपये चार्ज कर दिया।
सवाल ये है कि
१- जब बैंक ने डिनाय ही किया तो मुझे महज ४०० रुपये ज्यादा निकालने की सुविधा ही क्यों दी?
२- दूसरा सवाल ४०० रुपये के ओवरयूज पर ५०० का फाइन कहां तक जायज है?
३- इस तरह के फैसले लेने के बाद बैंक ग्राहक को सूचना भेजने की जहमत क्यों नहीं उठाते?

मैंने जैसे ही क्रेडिट कार्ड का बिल देखा मेरा माथा ठनक गया। मैंने जब फोन कर कस्टमर केयर वालों से अपना गुस्सा जाहिर किया तो उन्होंने एहसान जताते हुए फाइन को कम कर १२५ रुपये कर दिया। मैं जानता था कि ये भी बिलुकल नाजायज है लेकिन क्रेडिट कार्ड के इस्तेमाल की कुछ तो सजा मिलनी ही चाहिए न।
आखिर मॉडर्न महाजन के पैंतरों से आप और हम कैसे वाकिफ होंगे... इसी तरह तो....

2 टिप्‍पणियां:

रवीन्द्र रंजन ने कहा…

माडर्न महाजन बहुत शातिर है। उससे बचकर रहिए वर्ना मुश्किल हो जाएगी। वैसे मेरे पास हैं कई तरीके उस‌से निबटने के। मिलिएगा तो बताऊंगा।

आदर्श राठौर ने कहा…

एक नोटिस भिजवाइए, सब सीधे हो जाएँगे